बीवी के साथ फेटिश सेक्स

दोस्तों नमस्कार आपकी की चुदाई कैसी चल रही है मजा तो आ रहा है न, मेरा नाम दया संकर  है और मैं 36 साल का हु. मैं शुरू से ही बहुत चोदबीर हु और मैंने अपना पहला चुदाई  14 साल में किया था, जब मैं हॉस्टल में था और उस समय मुझे मेरे क्लासमेट ने मुझे मुठ मारना सिखाया था. उसने मेरी गांड भी मारी थी और अपनी गांड भी मुझसे मरवाई थी. उस समय तो मुझे मज़ा बहुत आया और मुझे वहीं से शौक लगा चुदाई  का. उसके बाद, मैंने अपना पहला चुदाई  किया एक रंडी के साथ, जब मैं कॉलेज में था. उसके बाद तो मैंने बहुत चुदाई  किया है और मज़ा लिया है. अब मेरी शादी हो चुकी है और मेरी बीवी को कुछ ज्यादा चुदाई  का शौक नहीं है. सिर्फ मेरे मज़े के लिए मेरा साथ देती है. दोस्तों, मैं कोई बहुत हैण्डसम लड़का नहीं हु और ना ही मेरा 5 घंटे का टाइम है. हाँ लेकिन मुझे चुदाई  में एक्सपेरिमेंट करना बहुत पसंद है और जितना गन्दा हो सका उतना गन्दा भी. अच्छा दोस्तों क्या आपने किसी लड़की को चोदा है सच्ची बताना.

 अच्छा दोस्तों गांड मरने का अपना अलग मजा है तो दोस्तों, अब मैं अपनी कहानी पर आता हु. एक रात मुझे बहुत ताप चड़ा था (ताप का मतलब बता दू, गाँव में ताप का मतलब चुदाई  की ठरक है होता है). मैं और मेरी बीवी उस समय घर में अकेले थे और घर में कोई भी नहीं था. हम दोनों एक बार चुदाई  करके सो चुके थे. अचानक से मैंने अपनी बीवी के पेरो को चूमना शुरू किया और अपनी जीभ से उसको रगड़ना शुरू किया. उसकी भी नीद खुल गयी और वो बैचेन होकर कुम्लाने लगी. वो अपने पैरो को रगड़ रही थी और अचानक से मैंने उसके पैरो को पकड़ लिया और उसके पैरो पर काटने लगा. वो एकदम से तड़प उठी ऊऊऊऊओ ऊऊऊऊऊओ.. उसके मुह से गरम सिसकारी निकलने लगी. वो बोली – क्या हो गया? क्या कर रहे हो? आप लॉप ने कभी न कभी तो किसी न किसी की गांड मरी ही होगी .

Read New Story..  पडोसन की मालिश और दमदार सवारी

 क्या दोस्तों आपने कभी भाभी को चोदा है कितना मजा आया बताना जरा मैंने उसको कोई जवाब नहीं दिया और उसको काटता रहा और मेरी जीभ उसके पेरो से होती हुई उसकी चूत पर पहुच गयी. एक बात मैं आप को बताना भूल गया, कि उस रात चुदाई  करने के बाद, हम दोनों नंगे ही सो रहे थे. मैंने उसकी चूत के दानो को अपने दातो के बीच में ले लिया और उसको काट लिया और फिर एकदम से अपनी जीभ को उसकी चूत में घुसा दिया और रगड़ने लगा. वो सिसक रही थी और उसके मुह से कामुक आहे निकल रही थी. वो कहरा रही थी अहहाह अहहाह अहः… क्या कर रहे हो? मुझे दर्द हो रहा है.. पर मैं तो जैसे कान बंद करके बैठा था… मुझे कुछ नहीं सुनाई दे रहा था.v

 मै एक नंबर का आवारा चोदा पेली करने वाला  लड़का हु मुझे लड़किया चोदना अच्छा लगता है फिर मैं एकदम से उठा और किचन से खीरा ले आया और उसको उसकी चूत पर रगड़ना शुरू कर दिया. उसने उठाना चाह, तो मैंने उसको उठने नहीं दिया और फिर एक ही झटके में खीरे को उसकी चूत में घुसा दिया. वो तड़प उठी और बोली – पागल हो गये हो क्या? जान ले लोगे? दोस्तों, मुझे कुछ नहीं सुनाई दे रहा था. मुझे तो बस हवस का भुत सवार था और मैं उसको किसी भी सूरत में मसलना चाहता था. फिर मैंने उसको खीरे से  जोर – जोर से चोदना शुरू कर दिया. वो रोने लगी थी और उसके मुह से दर्द भरी कराहे अहः अहहहा अहहहः अहहाह अहहाह अहहाह अहः मर गयी मार डाल रे… निकल रहा था…

  क्या दोस्तों आपने अपने बहन की चूची को दबाया है मेरे मित्रगणों  क्या मॉल थी उसकी चुची पीकर मजा आ गया फिर मैंने उस खीरे को उसकी चूत से निकाला और उसके मुह को अपने दोनों हाथो से खोलकर उसके मुह में घुसा दिया और जोर – जोर से उसके मुह को चोदने लगा. बहुत जोर से मैं चोद रहा था. वो पागल होने लगी थी और मुझे धक्का देने लगी थी. पर मैं उसको किसी भी हालत में छोड़ने वाला था नहीं था. मेरा लंड एक दम फंनेखान की तरह लहरा रहा था. मैंने अपने आप को उसके ऊपर सुलाया और अपने लंड को हाथ से उसकी चूत में सेट किया और फटाक से घुसा दिया. मेरा लंड एकदम से उसकी चूत में उतर गया, क्योंकि खीरा घुसाने से उसकी चूत खुल गयी थी. अब मैं उसके मुह को खीरे से चोद रहा था और उसकी चूत को अपने लंड से. मेरे प्यारे दोस्तो चुची पिने का मजा ही कुछ और है.

Read New Story..  मैं उस समय लगभग अट्ठारह साल की थी, तब का यह किस्सा है..

 ये कहानी पढ़ कर आपका लंड खड़ा नहीं हुआ तो बताना  लड खड़ा ही हो जायेगा  मुझे मज़ा आ रहा था. वो रो रही थी और मुझे मार रही थी. वो मुझे अपने बड़े – बड़े नाखुनो से नोचने लगी थी और मेरे शरीर पर से खून निकलने लगा था. वो मेरे होठो को काट रही थी और मेरे बालो को खीच रही थी. क्या मज़ा आ रहा था. मैं तो बिलकुल ही पागल हो गया था. मुझे तो लगा, कि आज ही सारा मज़ा ले लेना है. उस दिन, मेरे लंड ने भी ना निकलने की कसम खा ली थी. २० मिनट की चुदाई के बाद भी, मैं नहीं झड़ा था, मेरे बीवी अब थक चुकी थी और 2 – 3 झड़ चुकी थी. उसने जोर से अपने हाथ से खीच कर खीरा बाहर निकाल लिया और बोली – अब इसे बाहर निकालो, सहन नहीं हो रहा है. मेरे मित्रगणों  चुत छोड़ने के बाद सुस्ती सी आ जाती है    .

 क्या बताऊ मेरे मित्रगणों   उसको देखकर किसी लैंड टाइट हो जाये मैंने लंड को उसकी चूत से बाहर निकाला और वो अब मेरे ऊपर आ गयी और अपने हाथ से मेरा मुठ मारने लगी. उसने 2 – 3 बार मेरे लंड को जोर से खीचा और मेरा सारा लावा के गरम वीर्य के फव्वारे के साथ मेरे लंड से निकल गया. मेरा सारा वीर्य इधर – उधर मेरे शरीर पर गिर गया और फिर वो मेरे शरीर पर गिर गयी. कुछ देर बाद वो उठी और उसने मेरे लंड को अपने हाथ में लेकर उसको चुसना शुरू कर दिया और फिर से मेरा शेरू तैयार था चुदाई के लिए. मैंने उस रात उसको ३ बार और जबरदस्त तरीके से चोदा और बाद में उसने मेरे मुह में पेशाब भी किया और मैंने भी उसके बूब्स पर मुता.. बहुत ही मज़ा आया. मेरे मित्रगणों  मने बहुत सी भाभियाँ चोद राखी है.

Read New Story..  जवान पूजा की सील तोड़ी

 मेरे मित्रगणों  क्या मलाई वाला माल लग रहा था , सुबह उठ कर मेरी बीवी मुझसे बहुत गुस्सा थी. क्योंकि उसकी चूत और मुह दोनों बहुत दुःख रहा था. लेकिन दोस्तों, मुझे बहुत मज़ा आया. क्योंकी कोई भी कॉल गर्ल आप को इस तरह से अपनी चुदाई नहीं करनी देगी और दोस्तों, जब तक आप अपनी बीवी को बिस्तर पर रंडी की तरह नहीं चोदोगे.. आपको चुदाई  का रियल मज़ा नहीं मिल पायेगा.. आप भी कोशिश करके देखो.. अपनी बीवी पर ऐसा कुछ आजमा कर देखो और बीवी को खुश करो. प्लीज ये ट्रिक अपनी गर्लफ्रेंड पर ना अपनाये… वरना कुछ बहुत बुरा भी हो सकता है…मेरे मित्रगणों  एक बार चोदते  चोदते  मेरा लंड घिस गया एक बात और मेरे मित्रगणों  चुत को चोदते समय साला पता नहीं क्यों नशा सा हो जाता बस चुदाई ही दिखती है आप लॉप ने कभी न कभी तो किसी न किसी की गांड मरी ही होगी.

Rate this post
error: Content is protected !!