कोचिंग गर्ल की सेक्सी चूत का दाना

मित्रों मै आप सब का हार्दिक अभिनंदन करता हु अपने बूर फाड् चुदाई की स्टोरी में, मेरा नाम मुकेश चञ्चकनी  है और में सूरत में रहता हूँ. मेरी कोचिंग में एक लड़की पढ़ती थी, जिसका नाम अंशिका छुड़वाने  था, वो दिखने में गजब की खूबसूरत थी. फिर एक दिन वो बड़े गले का सूट पहनकर आई और मेरे पास बैठ गयी. अब हम लोग सबसे पीछे बैठे थे और मुझे उसके बड़े-बड़े चूचिया  मजे से दिख रहे थे. मै एक नंबर का आवारा चोदा पेली करने वाला  लड़का हु मुझे लड़किया चोदना अच्छा लगता है.

 मेरे प्यारे दोस्तो चुची पिने का मजा ही कुछ और है तभी मैंने अपनी एक टाँग उसकी जांघो से टच करा दी, तो उसने मुझे सेक्सी निगाहो से देखा और मुस्कुराई. अब मेरी हिम्मत बढ़ गयी तो मैंने एक अपना सीधा हाथ उसकी जांघ पर रख दिया और हल्के-हल्के सहलाने लगा. अब मेरा हाथ टेबल के नीचे था, इसलिए मुझे कोई देख नहीं पा रहा था, वो इलास्टिक वाला ट्राउज़र (सलवार) पहने थी. ये कहानी पढ़ कर आपका लंड खड़ा नहीं हुआ तो बताना  लड खड़ा ही हो जायेगा .

 दोस्तों चुत छोड़ने के बाद सुस्ती सी आ जाती है     फिर जब उसने कोई विरोध नहीं किया तो मैंने थोड़ा सा टॉप (कुर्ता) उठाकर अपना एक हाथ उसके कुर्ते में डालकर उसके पेट पर रख दिया. फिर मैंने महसूस किया कि उसकी साँसे तेज़ी से चल रही थी. तभी मैंने अपना एक हाथ उसकी पेंटी में डाल दिया, ये क्या? उसकी पेंटी तो एकदम गर्म थी. तभी मेरा ध्यान उसके चूचिया  पर गया, तो वो भी एकदम नुकीले और टाईट हो रहे थे. अब में समझ गया था कि अंशिका छुड़वाने  गर्म हो गयी है. क्या बताऊ दोस्तों  उसको देखकर किसी लैंड टाइट हो जाये.

 दोस्तों मने बहुत सी भाभियाँ चोद राखी है फिर मैंने उसकी गर्म चूत पर अपना एक हाथ रख दिया और अब वो हल्के से सिसकारी लेने लगी थी. तभी उसने भी मेरा लंड मेरी पेंट के ऊपर से ही पकड़ लिया और सहलाने लगी. मैंने पहली बार किसी लड़की की चूत पर हाथ रखा था और अब में भी पागल हो गया था. दोस्तों क्या मलाई वाला माल लग रहा था.    .

 चुदाई की कहानी जरूर सुनना चाहिए मजे के लिए मैंने उसके चूत के दाने को पकड़ लिया और उसे दबाने लगा. अब उसकी चूत लगातार पानी छोड़ रही थी, जो बहकर उसकी चूत के नीचे से बहता जा रहा था. तभी मैंने उसकी चूत के बहते हुए पानी को अपने हाथ में लिया और अपना मुँह नीचे करके चाट लिया, वो एकदम नमकीन सा टेस्ट था. तभी मैंने अपना लंड एक मिनट के लिए बाहर निकाला, जो एकदम गीला हो रहा था और में आपको बता दूँ कि मेरा लंड 7 इंच लंबा है. साथियो की पुराणी मॉल छोड़ने का मजा ही कुछ और है.

 अब सुनिए चुदाई की असली कहानी फिर मैंने देखा कि वो मेरे लंड को बड़े गौर से अपनी आँखों में उतार रही थी. फिर मैंने अपना लंड अंदर करने के बाद उसकी चूत में अपना एक हाथ डाल दिया. फिर मैंने अपनी 2 उँगलियाँ उसकी चूत में डाल दी और ज़ोर-जोर से हिलाने लगा और 2-3 मिनट तक में उसका हस्तमैथुन हल्के-हल्के करता रहा. दोस्तों एक बार चोदते  चोदते  मेरा लंड घिस गया.

 वहा का माहौल बहुत अच्छा था  मित्रों  फिर उसका शरीर अकड़ गया और वो एकदम से शांत हो गयी और उसकी चूत से सफ़ेद पारदर्शी जैली के जैसा जैल बहकर बाहर आ गया, जिसे मैंने अपने हाथ में लेकर अपना मुँह नीचे करके चाट लिया. फिर कोचिंग का टाईम ख़त्म हो गया और अब जाते वक्त उसके चेहरे पर संतुष्टि के भाव थे. अब वो मुझे प्यार भरी निगाहों से देख रही थी. मेरा घर मेरे रूम से काफ़ी दूर था और अंशिका छुड़वाने  भी रूम किराए पर लेकर अपनी एक सहेली के साथ अकेली रहती थी और हम दोनों के रूम अलग अलग थे. दोस्तों उस लड़की मैंने चुत का खून निकल दिया.

 वहा जबरजस्त माल भी थी मित्रों  फिर मैंने उसी दिन रात को 11 बजे उसे फोन किया, तो वो बोली कि तुम क्या कर रहे हो? तो मैंने कहा कि तुम्हें याद कर रहा हूँ. फिर हम दोनों ने ढेर सारी सेक्सी बातें की. फिर मैंने उससे पूछा कि क्या तुमने अभी तक किसी से चुदवाया है? तो वो बोली कि नहीं. फिर मैंने पूछा कि अब चुदवाने का क्या इरादा है? तो वो .कुछ नहीं बोली. फिर मैंने पूछा कि क्या तुमने अब तक गर्म बिस्तर  फिल्म देखी है? तो वो बोली कि नहीं, उसके रूम में कंप्यूटर भी था, लेकिन इंटरनेट नहीं था. दोस्तों चोदते चोदते चुत का भोसड़ा बन गया.

 ऐसे माहौल कौन नहीं रहना चाहेगा मित्रों  फिर वो बोली कि मुझे गर्म बिस्तर  फिल्म देखनी है. फिर मैंने कहा कि ठीक है कल में तुम्हें गर्म बिस्तर  फिल्म की सी.डी कोचिंग में कॉपी में रखकर दे दूँगा. फिर मैंने उससे पूछा कि क्या तुम हस्तमैथुन करती हो? तो वो बोली कि हाँ में तो रोज नहाते वक्त उंगली से या फिर पानी की तेज़ धार पाईप से अपनी चूत पर डालती हूँ तो 2-3 मिनट में मेरा हो जाता है. फिर मैंने उससे कहा कि में तो अपने लंड को मुट्ठी में पकड़कर ऊपर नीचे करता हूँ और 5-10 मिनट तक लगातार करने के बाद में झड़ता हूँ. मेरा तो मन ही ख़राब हो जाता था मित्रों .

Read New Story..  पड़ोसन लड़की को औरत बनाया

फिर अगले दिन मैंने उसे सी.डी दे दी. फिर रात को मैंने उसे फोन किया, तो वो सी.डी देख रही थी, उसकी आवाज बदली हुई थी. फिर वो मुझसे बोली कि इस सी.डी. में तो लड़का काफ़ी देर से करीब 50 मिनट से लड़की के धक्के लगा रहा है, इतनी देर में तो मेरा जाने कितनी बार झड़ जाएगा? तो मैंने कहा कि सी.डी. में तो दवाई लेकर सेक्स करते है.

 क्या बताऊ दोस्तों मैंने चुदाई हर लिमिट पार कर दिया फिर वो बोली कि मुझे ज्यादा देर तक झड़ने की दवाई लाकर दे दो, तो मैंने कहा कि दे दूँगा. फिर वो बोली कि 1 मिनट फोन होल्ड करो, में अपना नाईट सूट का टॉप उतार रही हूँ. फिर टॉप उतारने के बाद मैंने कहा कि अपना ट्राउज़र भी उतार दो और अब वो केवल ब्रा-पेंटी में थी और फिर मैंने उसकी ब्रा-पेंटी भी उतरवा दी. कुछ भी  हो माल एक जबरजस्त था .

 उसको देखकर  किसी का मन बिगड़ जाये  फिर उसने मुझसे कहा कि तुम भी पूरे नंगे हो जाओ, तो मैंने भी अपने सारे कपड़े उतार दिए. फिर वो जाकर एक मोमबत्ती उठाकर लाई और मुझसे कहने लगी कि हस्तमैथुन करो तुम भी और में भी. फिर हम दोनों ने फोन पर ही हस्तमैथुन करना शुरू कर दिया और फिर 3-4 मिनट तक हम दोनों पूरे जोश से अपना-अपना हस्तमैथुन करते रहे. फिर हम दोनों एक साथ जाकर झड़ गये. फिर वो बोली कि तुम्हारे साथ फोन पर सेक्स करने में बहुत मज़ा आया. फिर मैंने कहा कि जब आमने सामने करोगी तो इससे भी ज्यादा मज़ा आएगा.

अब तो हम दोनों का रूल बन गया था और अब हम दोनों रोज रात को फोन पर ही पहले मुठ मारते और फिर झड़कर सो जाते थे. फिर 3 दिन के बाद मैंने रविवार मॉर्निंग को उसे अपने रूम पर बुलाया, तो वो जीन्स टॉप पहनकर आई और बैग में अपने कपड़े भी रखकर लाई थी और मुझसे बोली कि में रात में यही रुक जाऊं, तो तुम्हें कोई एतराज तो नहीं है ना? तो मैंने कहा कि मुझे क्यों एतराज होगा? जब भरी गर्मी के दिन थे. फिर में उसके पास गया और उसकी आँखों में देखता रहा और फिर मैंने अपने गर्म होंठ उसके होंठो पर रख दिए और चूसने लगा. फिर वो भी करीब 10 मिनट तक मेरे होंठो को चूसती रही. दोस्तों मैंने किसी भाभी को छोड़ा नहीं है.

 उह भाई साहब की माल है उसकी चुत की बात ही कुछ और है फिर उसके बाद मैंने उसके चूचिया  को दबाना शुरू कर दिया. अब मेरा 8 इंच लंबा लंड पूरी तरह से तन चुका था. फिर उसने मेरी पेंट उतार दी और मेरा लंड अपने मुँह में लेकर चूसने लगी. अब उसे पूरा नशा चढ़ चुका था और देखते ही देखते उसने मुझे पूरा नंगा कर दिया और मेरे शरीर को चाटने लगी और फिर उसने मेरे पेट पर, हाथ पर, पैर पर, कूल्हों पर, पीठ पर खूब चाटा. दोस्तों एक बार स्कूल में चुदाई कर दिया बड़ा मजा आया.

 दोस्तों चोदते  चोदते  कंडोम के चीथड़े मच गए अब मुझे पूरी तरह से जोश आ चुका था तो मैंने भी उसे पूरा नंगा कर दिया और उसकी चूत को चाटने लगा और उसकी चूत का दाना पकड़कर रगड़ने लगा. मेरा बाथरूम भी रूम से ही अटैच था, तो उसने मुझसे कहा कि उसे पेशाब करनी है. फिर मैंने उसे उठाया और बाथरूम में ले गया और फिर मैंने शॉवर चला दिया और उसकी चूत चाटने लगा. फिर मैंने अपनी जीभ उसकी चूत में डाल दी, तो वो सिसकने लगी और बोली कि में ज्यादा देर नहीं रुक पाऊँगी. ओह्ह उसके यह का चुम्बन की तो बात अलग है.

 एक बार मैंने अपने मौसी की लड़की को जबरजस्ती चोद दिया फिर में थोड़ी देर तक चूसने के बाद रुक गया. फिर वो बोली कि मुझे तुम्हारे ऊपर पेशाब करना है. फिर मैंने कहा कि मुँह को छोड़कर जहाँ चाहो करो. फिर उसने मुझसे बैठने को कहा और मूतने लगी. अब उसका गर्म-गर्म पेशाब मेरे ऊपर गिर रहा था और अब में उत्तेजना से पागल हो गया था. फिर मैंने उसे पकड़ा और लेटा दिया और में भी उसके चूचिया  पर, चूत पर पेशाब करने लगा. अब वो चीख रही थी और सिसकारियाँ ले रही थी. है उसके गांड मेरा मतलब तरबूज क्या गजब भाई.

 मेरे मित्रो मामा की लड़की की चुदाई में बड़ा मजा आया  हम दोनों एक साथ नहाए और फिर हम दोनों बेड पर लेट गये. फिर वो मुझसे बोली कि प्लीज मुझे चोद दो, अब में नहीं रह पाऊँगी और अब वो ज्यादा उत्तेजना के कारण रोने लगी थी. फिर मैंने अपने लंड का सुपाड़ा उसकी चूत के छेद पर रख दिया और फिर हल्के से एक धक्का मारा. फिर वो चीख पड़ी और बोली कि मुझे तो दर्द हो रहा है. दोस्तों कई बार जबरजस्ती शॉट मरने में चुत से खून निकल गया.

Read New Story..  Drishyam, ek chudai ki kahani-1

 उसका भोसड़ा का छेड़ गजब का था मित्रों  फिर मैंने कहा कि चिंता मत करो डार्लिंग, थोड़ी देर में ये दर्द मज़ा बन जाएगा और फिर में धीरे-धीरे धक्के लगाने लगा. अब वो चीख रही थी चोदो मुझे, फाड़ दो मेरी चूत को, मूत दो मेरी चूत में और ज़ोर-जोर से सिसकारियाँ ले रही थी. अब उसने अपने बाल खोल लिए थे और वो पागल हो गयी थी. अब में भी अपने एक हाथ से उसके चूचिया  दबा रहा था. उसकी बूब्स  देखते ही उसको पिने की इच्छा हो गयी .

 मित्रों मै सबसे पहले उसकी गांड मरना चाहता हु  फिर अचानक से उसका शरीर अकड़ने लगा और वो एकदम से मुझसे चिपक गयी. अब उसने अपने नाख़ून मेरी पीठ में चुभा दिए थे और अब में समझ गया था कि वो झड़ चुकी है. फिर मैंने अपने धक्के और तेज कर दिए और में भी झड़ गया और मैंने उसकी चूत को अपने गाड़े वीर्य से भर दिया. फिर हम लोग 10 मिनट तक ऐसे ही पड़े रहे और फिर उसके बाद अपने-अपने कपड़े पहनकर सो गये. उसको पेलने की इच्छा दिनों से है मित्रों अच्छा चुदाई चाहे जितनी कर साला फिर भी लैंड नहीं मनता मित्रों.

श्वेता की मस्त मोटी गांडनमस्कार मित्रों और सुनाइए कैसे आप सब, मेरा नाम रोहन गुप्ता है मेरी उम्र 26 है और में एक निजी मोबाईल ग्राहक सेवा केंद्र में एक सुपरवासर  की नौकरी करता हूँ. मेरी यह कहानी अभी 5 महीने पहले की है जब मेरे एक एजेंट ने मेरी बात एक कस्टमर से करवाई उसके मोबाइल का बिल कुछ ज़्यादा आ गया था, जितना उसने काम में भी नहीं लिया था इसलिए वो किसी सीनियर से बात करना चाहती थी ताकि उसकी इस समस्या का हल हो जाए और इसलिए मैंने उससे बात की और उसने मेरा पर्सनल मोबाईल नंबर मुझसे ले लिया ताकि भविष्य में उसे इस तरह की कोई समस्या ना आए. मै एक नंबर का आवारा चोदा पेली करने वाला  लड़का हु मुझे लड़किया चोदना अच्छा लगता है.

 मेरे प्यारे दोस्तो चुची पिने का मजा ही कुछ और है दोस्तों उसके बाद में अपने काम में व्यस्त हो गया और कुछ दिन बाद उसका कॉल आया और हमने एक दूसरे से हाल चल पूछे, उसके बाद हमारी इधर उधर की बातें हुई श्वेता ने मुझसे कहा कि आज मुझे नई प्लान की जानकारी चाहिए तो क्या आप मेरे घर पर आ सकते है? फिर मैंने उससे हाँ कहा और उसके घर का पता लिया और फिर उसके घर पर पहुंच गया. जैसे ही उसने दरवाजा खोला में उसे देखते ही एकदम से चकित हो गया. उसकी उम्र करीब 32 की होगी, उसने गुलाबी कलर की साड़ी पहनी हुई थी, जिसमे उसके मोटे मोटे बूब्स गजब ढा रहे थे और जिन्हे देखते ही में और भी पागल सा हो गया. ये कहानी पढ़ कर आपका लंड खड़ा नहीं हुआ तो बताना  लड खड़ा ही हो जायेगा .

 दोस्तों चुत छोड़ने के बाद सुस्ती सी आ जाती है     उसने अपने घर पर मेरा स्वागत किया और मुझे सोफे पर बैठने को कहा और फिर वो मेरे लिए पानी लेने किचन की तरफ चली गई. अब मेरे पानी पीने के बाद वो मेरे पास बैठ गई और उसने मुझसे पूछा कि क्या मेरी शादी हुई है या नहीं? तो मैंने ना में अपना सर हिला दिया फिर उसने मुझसे पूछा कि क्यों तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड तो होगी ही ना? अब मैंने कहा कि हाँ वो कुछ समय पहले थी, लेकिन अब उसकी शादी हो गई है. उसके बाद उसने मुझसे पूछा कि क्या आपने कभी सेक्स किया है? दोस्तों में उसके मुहं से यह बात सुनकर एकदम हैरान रह गया, लेकिन मैंने उससे साफ मना कर दिया और फिर उसने पूछा कि क्यों तुम कैसे कंट्रोल करते हो? तो मैंने कहा कि में हमेशा व्यस्त रहता हूँ और उस वजह से मेरा इन बातों पर ज्यादा ध्यान नहीं जाता. क्या बताऊ दोस्तों  उसको देखकर किसी लैंड टाइट हो जाये.

 दोस्तों मने बहुत सी भाभियाँ चोद राखी है उसके बाद मैंने उससे पूछा कि आपके पति कहाँ है और वो क्या करते है? तो उसने मुझे बताया कि वो विदेश में रहते है और कभी कभी होली दीवाली पर घर आते है. फिर मैंने उससे पूछा कि सेक्स कैसे होता है? फिर मेरे इतना पूछते वो एकदम मुझसे लिपट गई और कहने लगी कि जानू उसके लिए ही तो तुम हो ना. अब उसके एक किस से में भी हॉट हो गया था और में उसके होंठो को चूसने लगा. उसके बाद हम दोनों बेडरूम में आ गये और मैंने उसे अपनी बाहों में ले लिया और उसके मुहं में अपने होंठ डालकर उसकी जीभ को चूसने करने लगा. दोस्तों क्या मलाई वाला माल लग रहा था    .

 चुदाई की कहानी जरूर सुनना चाहिए मजे के लिए वो मुझसे लिपट गई और सिसकियाँ लेने लगी और उसके बाद मैंने उसके ब्लाउज के बटन खोल दिए और अब उसके मोटे मोटे दूध जैसे बूब्स बिल्कुल आज़ाद थे और में उन्हे ज़ोर ज़ोर से दबाने लगा और वो आहे भरने लगी आअहह उुउऊहह जानुउऊउउ हाँ ऐसे ही दबाओ और चूसो इन्हें, आज तुम मेरी प्यास बुझा दो, में बहुत प्यासी हूँ. साथियो की पुराणी मॉल छोड़ने का मजा ही कुछ और है.

Read New Story..  नौकरानी को ब्लू फिल्म दिखाकर चोदा

 अब सुनिए चुदाई की असली कहानी अब में भी जोश में आकर उसके निप्पल को पूरे जोश से चूसने लगा और फिर मैंने अपना एक हाथ उसकी चूत में डाल दिया, उसे छूते ही मैंने महसूस किया कि वो एकदम गीली हो गई थी और वो अब ज़ोर ज़ोर से सिसकियाँ लेने लगी और मुझसे कह रही थी कि हाँ मेरे राजा खा जाओ मुझे, हाँ ऐसे ही पियो मेरे दूध को आआआहह ऊऊओह माँ मरी, हाँ आज तुम मुझे खा जाओ मेरे राजा और उसके बाद हम 69 की पोजीशन में आ गए और वो मेरे लंड को चूसने लगी और में उसकी चूत को चाटने लगा. कुछ देर बाद मैंने मेरे लंड की क्रीम को उसके मुहं में ही निकाल दिया जिसे वो चाट गई. दोस्तों एक बार चोदते  चोदते  मेरा लंड घिस गया.

 वहा का माहौल बहुत अच्छा था  मित्रों  फिर कुछ देर बाद वो मुझसे कहने लगी कि मेरे राजा अब मुझसे कंट्रोल नहीं हो रहा प्लीज अब अपना अंदर डाल दो और अब वो मेरे लंड को अपने मुहं में लेकर चूसने लगी जिसकी वजह से वो एक बार फिर से तनकर खड़ा हो गया. में उसकी गांड को सहलाने लगा और फिर थोड़ी देर में मेरा लंड खड़ा हो गया मैंने उसके दोनों पैर फैलाए और एक ही झटके से पूरा का पूरा लंड अंदर डाल दिया, उसके मुहं से एक चीख निकली. उसकी चूत बहुत टाईट थी क्योंकि शायद उसका पति उसके साथ कम ही सेक्स करता था उसके बाद मैंने उसके होंठ पर अपने होंठ रख दिए और एक ज़ोर का झटका मारा जिससे लंड उसकी चूत की गहराईयों में चला गया. दोस्तों उस लड़की मैंने चुत का खून निकल दिया.

 वहा जबरजस्त माल भी थी मित्रों  फिर मैंने देखा कि उसकी आँख से आँसू बाहर निकलने लगे और उसे बहुत दर्द हो रहा था जिसकी वजह से वो छटपटा रही थी. फिर थोड़ी सी देर में उसके होंठ चूसने लगा और कुछ देर बाद मैंने देखा कि अब वो थोड़ा शांत हो गई है और मुझसे कहने लगी है कि हाँ मेरे राजा और ज़ोर से चोदो मुझे, तुम आज मेरी चूत का भोसड़ा बना दो आआअहह ऊऊहह म्म्म्मममाआअक़ह हाँ ऐसे ही और ज़ोर से, मेरी चूत का भोसड़ा बना दो, उसके मुहं से एसी बातें सुनकर में और भी जोश में आ गया और में ज़ोर ज़ोर से धक्के देकर उसे चोदने लगा. दोस्तों चोदते चोदते चुत का भोसड़ा बन गया

 ऐसे माहौल कौन नहीं रहना चाहेगा मित्रों  अब वो भी अपनी चूतड़ को नीचे से उछाल रही थी और पूरे कमरे में फच फच की आवाज़ आ रही थी. हम दोनों ऊपर से नीचे तक पसीने में गीले हो गये थे और अब मैंने महसूस किया कि श्वेता की चूत ने पानी छोड़ दिया था, लेकिन में अभी भी उसे लगातार ज़ोर ज़ोर से धक्के मार रहा था और कुछ मिनट में ही मेरे लंड ने भी वीर्य छोड़ दिया और में उसके ऊपर लेट गया और उसके होंठ चूसने लगा. फिर थोड़ी देर हम ऐसे ही लिपटे रहे और उसके बाद मैंने उसे कुतिया बना दिया और उसकी मोटी गोरी गांड को चाटने लगा, इस वजह से मेरा लंड खड़ा हो गया और मैंने उसकी गांड में लंड रखकर एक ज़ोर का धक्का मारा और मेरा लंड उसकी गांड में थोड़ा सा अंदर गया. दोस्तों एक बार मैंने अपने गांव के लड़की जबरजस्ती चोद दिया.

 उह क्या मॉल था मित्रों गजब  वो मुझसे कहने लगी कि प्लीज बाहर निकालो इसे, मुझे बहुत दर्द हो रहा है, लेकिन में नहीं रुका और मैंने दूसरे झटके में पूरा लंड उसकी गांड में घुसा दिया और धक्के लगाने लगा. थोड़ी देर में मेरे लंड की क्रीम उसकी गांड में झड़ गई और में उसके ऊपर गिर गया तो थोड़ी देर हम ऐसे ही पड़े रहे, लेकिन आज वो बहुत खुश थी और फिर वो मुझसे कहने लगी कि धन्यवाद रोहन आज तुमने मेरी प्यास को बुझा दिया है और आज से में आपकी हुई, अब जब भी दिल करे आप मेरे पास चले आना. फिर उसके बाद हमने अपने कपड़े पहने और उसके बाद वो मेरे लिए चाय, नाश्ता लेकर आई और नाश्ता करके में अपने घर पर आ गया. मेरा तो मन ही ख़राब हो जाता था मित्रों  उह भाई साहब की माल है उसकी चुत की बात ही कुछ और है.

Rate this post
error: Content is protected !!