गर्लफ्रेंड को शादी के बाद प्रेग्नेंट किया

नमस्कार मित्रों और सुनाइए कैसे आप सब मेरा नाम प्रिंस दस  है और में मुंबई में रहता हूँ, दोस्तों अभी में एक कार्यकर्त्ता  हूँ और एक बहुत विदेशी प्राइवेट कंपनी में नौकरी करता हूँ. दोस्तों वैसे यह कहानी मेरी गर्लफ्रेंड के साथ हुई एक सच्ची सेक्स घटना है जिसमें मैंने उसके साथ बहुत मज़े किए वो सब में अब आप सभी को पूरे विस्तार से बताने जा रहा हूँ, लेकिन सबसे पहले में अपनी गर्लफ्रेंड से आप सभी का परिचय भी करवा देता हूँ. ये कहानी पढ़ कर आपका लंड खड़ा नहीं हुआ तो बताना  लड खड़ा ही हो जायेगा.

दोस्तों उसका नाम नम्रता है और वो दिखने में एकदम हॉट, सेक्सी बहुत गोरी है और उसके फिगर का आकार 36-28-34 है जो मुझे उसने ही एक दिन बताया. दोस्तों अगर उसे कोई भी एक बार देख ले तो बिल्कुल पागल हो जाए, क्योंकि वो गोरे गदराए बदन की मालकिन होने के साथ साथ बहुत सुंदर भी है. दोस्तों मने बहुत सी भाभियाँ चोद राखी है.

 दोस्तों क्या मलाई वाला माल लग रहा था दोस्तों हम दोनों कॉलेज के पहले साल से ही एक दूसरे को बहुत प्यार करते थे, वो जिस दिन मुझे पहली बार नजर आई तो उस दिन से ही वो मुझे अच्छी लगने लगी थी. फिर धीरे हमारे बीच बातचीत होने लगी थी और हम दोनों एक दूसरे के साथ बहुत समय गुजारने लगे. हमारे बीच अब हंसी, मजाक, मस्ती करना कुछ ज्यादा ही बढ़ने लगा था और उन दिनों हम इतने आगे निकल गए कि अब हमने किस्सिंग और सभी ऊपर के काम करने शुरू कर दिए थे, लेकिन हमने सेक्स कभी नहीं किया था, क्योंकि हमें ऐसा कोई मौका ही नहीं मिला जिसका फायदा उठाकर हम दोनों अपनी अपनी आग को बुझा सके या सेक्स का वो मज़ा ले सके जिसके बारे में हम दोनों के मन में हमेशा असंतुष्टि रहती थी. चुदाई की कहानी जरूर सुनना चाहिए मजे के लिए.

 साथियो की पुराणी मॉल छोड़ने का मजा ही कुछ और है हम एक दूसरे के इतना करीब होने के बाद भी कुछ नहीं कर सके, लेकिन हम दोनों एक बहुत अच्छे दोस्त जरुर थे. फिर हमारी किस्मत ने भी हमारा साथ नहीं दिया और उसकी पढ़ाई खत्म होते ही उसके घर वालों ने उसकी जबरदस्ती शादी करवा दी. मुझे उससे दूर जाने का बहुत दुःख था और वो मुंबई में ही अपने पति के साथ रहने लगी थी. दोस्तों बहुत दिन गुज़र गये थे इस बीच हमने एक दूसरे से कोई .भी बात नहीं की थी, लेकिन बीच बीच में एक दूसरे के पास से मैसेज जरुर आते थे और उनको पढ़कर में अब अपने मन को थोड़ा सा समझाकर खुश भी था कि वो अपने पति के साथ एकदम ठीक है. अब सुनिए चुदाई की असली कहानी.

 दोस्तों एक बार चोदते  चोदते  मेरा लंड घिस गया एक दिन प्रिंस दस वार को में कुछ शॉपिंग करने के लिए बाजार चला गया तो वो मुझे वहां पर मिली, वो उस समय बिल्कुल अकेली थी और मुझे देखकर अचानक से उसकी आँख में से आंसू बाहर आ गये तो मैंने उससे बात करनी शुरू की और कुछ देर बाद में उससे पूरी बात जानने के लिए उसे पास ही की एक होटल में लेकर चला गया. वहा का माहौल बहुत अच्छा था  मित्रों .

 दोस्तों उस लड़की मैंने चुत का खून निकल दिया फिर वहां पर पहुंचकर मैंने उससे पूछा कि क्या हुआ? तुम तुम्हारी इस शादी से खुश तो होना? तो वो बोली कि हाँ और वो फिर से रोने लगी. दोस्तों में तुरंत समझ गया कि कुछ तो समस्या जरुर है और मैंने उससे बार बार पूछा तब उसने मुझसे कहा कि मेरा पति बहुत परेशान करता है और हम दोनों पिछले एक साल से शादी होने के बाद से सिर्फ़ झगड़े ही कर रहे है, वो कभी भी मुझे खुश नहीं रखता और वो मुझे कभी साथ नहीं घुमाता, मेरा कोई भी कहना नहीं मानता और वो मेरी हर एक छोटी छोटी बात को लेकर मुझसे झगड़ने लगता है. में उसके साथ इतने समय से बहुत परेशान हूँ, लेकिन मैंने आज तक किसी को कुछ भी नहीं बताया, क्योंकि यह बात सुनकर मेरे घर वालों को बहुत दुःख होगा, प्लीज तुम किसी को यह बात मत बताना, तुम्हे मेरी कसम. वहा जबरजस्त माल भी थी मित्रों .

 दोस्तों चोदते चोदते चुत का भोसड़ा बन गया दोस्तों अब में उसे समझाने लगा कि कोई बात नहीं है सब कुछ ठीक हो जाएगा, तुम बिल्कुल भी चिंता मत करो, शुरू में ऐसा सबके साथ होता है और तुम उसे समझने की कोशिश करो, एक दिन वो भी तुम्हे समझ जाएगा और हो सकता है कि तुम्हारे साथ सब कुछ सही होने में थोड़ा समय जरुर लगेगा, लेकिन मेरा मन कहता है कि समय के साथ साथ तुम दोनों के जीवन में सब कुछ ठीक हो जाएगा, लेकिन उसके लिए तुम्हे थोड़ा सा और इंतजार करना पड़ सकता है. ऐसे माहौल कौन नहीं रहना चाहेगा मित्रों.

Read New Story..  Drishyam, ek chudai ki kahani-7

 दोस्तों एक बार मैंने अपने गांव के लड़की जबरजस्ती चोद दिया दोस्तों तब तक मेरे मन में उसके लिए कोई ग़लत ख्याल नहीं थे, क्योंकि में मन ही मन उसको आज भी अपना सबसे अच्छा दोस्त साथी मानता था और में तो बस अपने प्यार को खुश देखना चाहता था, वो मुझे रोती हुई बिल्कुल भी अच्छी नहीं लगती थी इसलिए में उसको समझा रहा था और चुप करवा रहा था. में चाहता था कि वो मेरे समझाने के बाद अपने पति के साथ बहुत खुश रहे और मैंने भगवान से भी उसके ख़ुशी जीवन के लिए बहुत बार दुआ मांगी थी. उह क्या मॉल था मित्रों गजब.

 मेरा तो मन ही ख़राब हो जाता था मित्रों  फिर उसके बाद मैंने उसे कुछ देर और समझाकर उसके घर पर भेज दिया और मैंने उससे कहा कि उसे अब कुछ भी समस्या हो तो मुझे फोन कर दे, में उसकी मदद करने जरुर आ जाऊंगा और वो मेरी पूरी बात को सुनकर चली गई. दोस्तों में उसके चले जाने के बाद भी हमेशा उसी के बारे में सोचता रहा. उसके साथ साथ में भी उसके दुःख से बहुत दुखी था. क्या बताऊ दोस्तों मैंने चुदाई हर लिमिट पार कर दिया.

 कुछ भी  हो माल एक जबरजस्त था फिर पांच दिन के बाद उसका मेरे पास एक मैसेज आ गया तो मैंने उसको कॉल किया और उससे पूछा कि क्या हुआ, बताओ कैसी हो तुम? मैंने उससे ऐसे ही सवाल पूछे फिर कुछ देर सोचने के बाद उसने जवाब देना शुरू किया और उसने मुझे कहा कि में एकदम ठीक हूँ और फिर उसने मुझसे बोला कि एक समस्या है? तो मैंने बोला कि हाँ बताओ? उसको देखकर  किसी का मन बिगड़ जाये .

 दोस्तों मैंने किसी भाभी को छोड़ा नहीं है तब वो मुझसे बोली कि उसने और उसके पति ने बहुत बार यह बात सोचकर सेक्स किया कि में माँ बन जाऊँ, वो अब मुझसे बच्चा चाहते है और सच पूछो तो में भी यही चाहती हूँ, लेकिन में ना जाने क्यों गर्भवती नहीं हो पा रही हूँ और उस वजह से अब उसका पति उससे झगड़े कर रहा है, वो तो डॉक्टर के पास चेकअप के लिए भी नहीं जा रहा है. उह भाई साहब की माल है उसकी चुत की बात ही कुछ और है.

 दोस्तों एक बार स्कूल में चुदाई कर दिया बड़ा मजा आया फिर मैंने उसकी पूरी बात को सुनकर उसे एक दिन मुझसे मिलने के लिए बुला लिया और वो मेरे बताए ठीक समय और पते पर चली आई और फिर वो बातें करते करते दोबारा से रोने लगी और मैंने उसे बहुत देर तक समझाया तब जाकर वो शांत हुई. फिर में उसे एक डॉक्टर के पास लेकर चला गया और वहां पर मैंने उसका चेकअप करवाया. दोस्तों चोदते  चोदते  कंडोम के चीथड़े मच गए

 ओह्ह उसके यह का चुम्बन की तो बात अलग है तब मैंने देखा कि उसकी सारी जांच एकदम सही थी और इसका मतलब यह था कि उसमे कोई भी कमी नहीं थी और सारी कमी उसके पति में ही थी. फिर मैंने उसे वो सब बताया और उससे कहा कि वो यह सभी रिपोर्ट अपने पति को दिखा दो, इसके बाद तुम्हारे बीच लड़ाई झगड़ा खत्म हो जाएगा और वो तुमसे इसके बाद इस बारे में कभी भी कुछ नहीं कहेगा, लेकिन मेरी गर्लफ्रेंड ने तभी मेरी पूरी बात सुनकर मुझसे एक सवाल पूछा कि क्या तुम मेरी मदद करोगे प्लीज? एक बार मैंने अपने मौसी की लड़की को जबरजस्ती चोद दिया.

 है उसके गांड मेरा मतलब तरबूज क्या गजब भाई मैंने कहा कि हाँ बताओ में जरुर करूँगा, तो वो मुझसे कहने लगी कि उस दिन जब में तुमसे पिछली बार होटल में मिली थी तब तुमने मुझसे बोला था कि तुम मेरा कुछ भी काम हो मेरी मदद जरुर करोगे, तो क्या तुम मुझे माँ बनाने में मेरी मदद करोगे? प्लीज तुम मुझसे मना मत करना, में तुम्हारे मुहं से हाँ सुनना चाहती हूँ और मुझे तुम से बहुत उम्मीद है कि तुम मेरा यह काम जरुर करोगे प्लीज. मेरे मित्रो मामा की लड़की की चुदाई में बड़ा मजा आया.

 दोस्तों कई बार जबरजस्ती शॉट मरने में चुत से खून निकल गया दोस्तों तभी में उसकी यह बात सुनकर एकदम से बहुत चकित हो गया और मुझे उसके कहे हुए उन शब्दों पर कुछ देर तक बिल्कुल भी विश्वास नहीं था, क्योंकि मैंने आज तक कभी भी उसके साथ वो सब कुछ करने के बारे में नहीं सोचा था और हमारे बीच उसकी शादी से पहले ऊपर का काम जरुर हुआ था और अब भी में सोच रहा था कि वो मुझसे यह क्या बोल रही है? उसका भोसड़ा का छेड़ गजब का था मित्रों .

उसकी बूब्स  देखते ही उसको पिने की इच्छा हो गयी फिर मैंने कुछ देर बिल्कुल चुपचाप होकर सोचने के बाद उससे कहा कि मुझे इसमें कोई समस्या नहीं है, लेकिन अगर किसी को इस काम के बारे में पता भी चला तो तुम्हे पता है कि तुम्हारे साथ क्या क्या होगा? मित्रों मै सबसे पहले उसकी गांड मरना चाहता हु .

Read New Story..  Drishyam, ek chudai ki kahani-24

उसको पेलने की इच्छा दिनों से है मित्रों वो मुझसे बोली कि किसी को कुछ भी पता नहीं चलेगा, क्योंकि में किसी को भी पता नहीं चलने दूंगी और वैसे भी में अपने पति के साथ सेक्स करके उससे बिल्कुल भी संतुष्ट नहीं हूँ, उसने मुझे आज तक वो सुख नहीं दिया जो सुख शादी होने के बाद एक पत्नी अपने पति से चाहती है, वो कभी भी मेरी उम्मीदों पर खरा नहीं उतरा, प्लीज तुम अब मेरी मदद करो और में तुमसे अपना बच्चा चाहती हूँ, प्लीज मुझे एक बच्चा दे दो, में जानती हूँ कि तुम ऐसा कर सकते हो और इसके बाद मेरे पास और कोई रास्ता भी नहीं है, प्लीज तुम अब मेरी जिन्दगी को बर्बाद होने से बचा लो, मुझे वो सुख दे दो जिसके लिए में इतने सालों से तड़प रही हूँ प्लीज. अच्छा चुदाई चाहे जितनी कर साला फिर भी लैंड नहीं मनता मित्रों.

 मित्रों मेरा तो मानना है जब भी चुत मारनी हो बिना कंडोम के ही मारो तभी ठीक नहीं सब बेकार दोस्तों उसकी यह बात सुनकर पहले मैंने बहुत कुछ सोचा, लेकिन में अब मन ही मन बहुत खुश था, क्योंकि मेरी तो अब लोटरी लगी थी, वो खुद मुझे अपनी चुदाई का न्योता दे रही थी और फिर मैंने उससे कहा कि ठीक है, तो वो तुरंत मुझसे कहने लगी कि कल तुम हम दोनों के लिए एक रूम बुक करवा लो, में कल पूरा दिन और पूरी रात तुम्हारे साथ रहूंगी, क्योंकि मेरे पति एक दिन के लिए अपने किसी जरूरी काम से कहीं बाहर जा रहे है और उस बीच में तुम्हारे साथ ही रहना चाहती हूँ और वो मुझसे इतनी बात कहने के बाद बहुत खुश होकर चली गई. उसके बूर की गहराई में जाने के बाद क्या मजा आया मित्रों  जैसे उसके चुत में माखन भरा हो.

 उसको देखने बाद साला चुदाई भूत सवार हो जाता मित्रों फिर उसने अपने घर पहुंचने से पहले ही मुझे एक मैसेज करके बहुत बार धन्यवाद कहा और उसके जाते ही मैंने एक होटल में रूम बुक करके उसे फोन करके बात दिया. फिर दूसरे दिन वो मेरे बताए रूम में आ गई दोस्तों में क्या बताऊँ वो क्या सेक्सी लग रही थी? वो उस साड़ी में एकदम हॉट सेक्सी दिख रही थी और उसकी गांड तो ऐसे मटक रही थी कि में आप लोगों को क्या बताऊँ? मुझे तो कभी कभी चुदाई का टाइफिड बुखार हो जाता है और जब तक चुदाई न करू    तब तक ठीक नहीं होता.

 एक बात और मित्रों चुत को चोदते समय साला पता नहीं क्यों नशा सा हो जाता बस चुदाई ही दिखती है फिर वो अंदर आई और आते ही मुझसे गले लग गई और मुझे किस करने लगी और में भी उसका पूरा पूरा साथ देने लगा. फिर कुछ देर बाद मेरा भी कंट्रोल खत्म हो गया और में भी अब उसे ज़ोर ज़ोर से हग करके किस करने लगा और फिर मैंने उसे बेड पर लेटा दिया और में तुरंत उसके ऊपर गया.  उह यह उसकी नशीली आँखे में एक दम  चुदकड़ अंदाज है.

 मित्रों देखने से लगता है की वो पका चोदा पेली का काम करती होगी अब में उसकी साड़ी को खोलने लगा तो वो अब बिल्कुल पागल हो गई थी और में उसके बूब्स को दबाने लगा था. वो अब धीरे धीरे मोन करने लगी थी और मैंने तुरंत उसके सारे कपड़े उतार दिए और फिर मेरे भी में अब उसके निप्पल को चूसने लगा था और वो मेरे 6 इंच के लंड को सहलाने लगी थी और वो मेरे ऊपर आकर बैठ गई, मेरा लंड अपने मुहं में लेकर चूसने लगी थी. मित्रों चुत को चाटेने के  समय उसके बूर के बाल मुँह में आ रहे थे.

 मित्रों मुझे तो कभी कभी चुत के दर्शन मात्र से खूब मजा आता क्योकि मई पहले बहुत बार अपने मौसी के लड़की  को बिना पैंटी के देखा था  वाह क्या मजा आया था दोस्तों वाह क्या मस्त अहसास था वो? फिर मैंने उसको उल्टा लेटा दिया और अब हम दोनों 69 पोज़िशन में आ गए थे. में अब उसकी चूत को चाटने लगा था और वो मेरा लंड सक करते करते धीरे से मोनिंग कर रही थी और बार बार कह रही थी आईईई उफ्फ्फ तुम बहुत अच्छे हो में तुमसे बहुत प्यार करती हूँ. अब चुदाई करने को  १००% तैयार थी  .

 मन कर रहा था कब इसे चोद लू मेरा लंड समझने  को तैयार नहीं था .फिर कुछ देर बाद मैंने उसे बिल्कुल सीधा लेटा दिया और उसके दोनों पैर ऊपर किए अब में अपना लंड उसकी चूत के मुहं पर रखकर हल्के हल्के रगड़ने लगा था. फिर वो मुझसे बोली कि प्लीज अब बस करो, मुझे और मत तड़पाओ, प्लीज अब जल्दी से अंदर डाल दो इसे, प्लीज थोड़ा जल्दी करो और मेरी प्यास को बुझा दो, में बहुत सालों से प्यासी हूँ, मुझे तुम आज पूरी तरह से शांत कर दो और मुझे अपने बच्चे की माँ बना दो, में तुम्हारा यह अहसान पूरी जिन्दगी नहीं भूल सकती. अब बिना चुदाई के रह नहीं सकता था मित्रों मै पागल सा हो गया .

Read New Story..  रंडी माँ और बहन का बिजनेस

 ओह ओह ओह है कब लंड को घुसा दू ऐसा लग रहा था मित्रों  फिर मैंने उसके मुहं से यह बात सुनकर एक ही झटके में अपना पूरा लंड उसकी चूत के अंदर डाल दिया, लेकिन दोस्तों तभी मैंने महसूस किया कि उसको बहुत दर्द हुआ और फिर धीरे धीरे झटके मारने लगा तो वो पागलों की तरह चीखने लगी आह्ह्हह्ह उफ़फ्फ़ स्सईईईईईई माँ मर गई उहहह. फिर में कुछ देर धक्के देने के बाद नीचे लेट गया और मैंने उसे अब अपने ऊपर बैठा लिया. वो मेरे लंड को धीरे धीरे अपनी चूत में डालने लगी और पूरा लंड चूत के अंदर जाने के बाद में उसको नीचे से झटके मारने लगा था और वो पूरी तरह से मदहोश होकर मेरे लंड पर उछल रही थी. अब हम दोनों पूरे जोश में आकर चुदाई के मज़े ले रहे थे और वो भी मेरा पूरा पूरा साथ दे रही थी. मॉल था चुदाई के लायक.

 मैंने सोचा पेलुँगा जरूर  कभी न कभी  फिर कुछ देर बाद मैंने उससे उसकी गांड को खोलने के लिए बोला तो वो मुझसे मना करने लगी, लेकिन मैंने उसे थोड़ा ज्यादा दबाव बनाते हुए कहा और फिर वो तब जाकर बिल्कुल तैयार हो गई. फिर मैंने उसे डोगी स्टाइल में बनने को कहा और अपने लंड का टोपा उसकी गांड में डालने लगा, वो दर्द से चीखने लगी और तुरंत हट गई जिसकी वजह से मेरा लंड फिसलकर अपनी जगह से हट गया. अब मैंने तुरंत उठकर थोड़ा सा वेसलीन अपने लंड पर और बहुत सारा उसकी गांड पर भी लगा दिया, जिसकी वजह से अब उसकी गांड चिकनी हो गई और कुछ देर अच्छी तरह से उसकी गांड की मालिश करने के बाद में दोबारा शुरू हो गया. माल चुदाई के लिए तड़प रही थी मित्रों .

 चोदने के बाद थोड़ा रिलेक्स हुआ भाइयो क्या गजब मजा जब माल अच्छा हो तो कौन नहीं  चोदना चाहेगा  है न मित्रों आया  अब मैंने अपना पूरा लंड उसकी कमर पर अपनी मजबूत पकड़ बनाकर एक ही जोरदार धक्का देकर उसकी गांड के अंदर पूरा का पूरा डाल दिया, वो बहुत ज़ोर से चीखने लगी और मुझसे कहने लगी कि उह्ह्ह्हह्ह्ह्ह आह्ह्ह्ह मुझे बहुत दर्द हो रहा है आऐईईईईई माँ मर गई, प्लीज इसे बाहर निकालो आहहह प्लीज आह्ह्ह्हह. सेक्स करते समय बहुत मजा आया था मित्रों.

 उसके ओठ रसीले थे मित्रों मॉल गजब था मित्रों फिर थोड़ी देर झटके देने के बाद में एक बार फिर से उसकी चूत में अपना लंड डालकर चुदाई करने लगा था. दोस्तों मैंने महसूस किया कि अब तक वो दो बार झड़ चुकी थी और कुछ देर की चुदाई के बाद में उसकी चूत में ही झड़ गया और मैंने अपना सारा वीर्य उसकी चूत में डाल दिया. फिर हम नंगे ही दिनभर मस्ती करते रहे. दोस्तों हम दोनों उस दिन से लेकर दूसरे दिन दोपहर को दो बजे तक चुदाई के मज़े लेते रहे और मैंने उसे करीब पांच बार चोदा. उसके लिप्स की चूसै यू ही चलती रही  मित्रों  .

 मित्रों वो मदहोस थी चुदाई के लिए  फिर हम दोनों वहां से अपने अपने घर पर चले गए और हमारी उसके बाद भी बहुत बार ऐसे ही चुदाई चली. मैंने उसे कई बार चोदकर संतुष्ट किया, वो मुझसे हमेशा बहुत खुश थी और मैंने अपनी तरफ से उसे कभी भी कोई शिकायत का मौका नहीं दिया. हम दोनों ने जमकर चुदाई के मज़े लिए और अब वो दो बच्चो की माँ है और खुशी से अपने पति के घर पर उसके साथ रहकर अपनी जिन्दगी जी रही है. दोस्तों आज भी में उसे जब भी मेरा मूड होता है बहुत जमकर चोदता हूँ और वो भी हमेशा मेरा पूरा साथ देती है और हम दोनों बहुत खुश रहते है. उसके बूब्स क्या मस्त थे मित्रों अब मै क्या कहु मित्रों मित्रों मैंने ऐसी तरह न जाने कितने औरतो और लड़कियों बूर में चोदा पेली किया है कितनो चुत का भोसड़ा तक बना दिया और न जाने कितनो का तो सील तोड़ कर खून निकाल दिया और न जाने कितनी को तो कुवारी में ही माँ बना दिया.

Rate this post
error: Content is protected !!