मुझे लगा अजीब शौक़ गांड का

न्यू गे बॉय सेक्स कहानी में मैं किसी नई चूत की तलाश में ऑनलाइन था. एक लड़की से बात हुई. उसने मुझे अपने बॉयफ्रेंड से बात करने को कहा. मुझे कुछ शक सा हुआ.

दोस्तो, मेरा नाम सोनल उर्फ सोनू है.
उम्र 30 साल, दिखने में स्मार्ट गोरा बदन और अन्तर्वासना का नियमित पाठक।

मुझे मिला एक अनजान प्यारा सा दोस्त जिसके साथ बिताए अंतरंग पलों को आपके साथ साझा कर रहा हूँ.
मैं पहली बार न्यू गे बॉय सेक्स कहानी लिख रहा हूँ, कुछ गलतियां हो तो क्षमा चाहता हूं।

जैसा कि मैंने बताया कि मुझे यह अजीब शौक लगा क्योंकि मेरी करीब 4 माह पहले फेसबुक पर एक लड़के से दोस्ती हुई.
जबकि मुझे तो सिर्फ महिलाओं को सहलाने, उनकी चूत को चाटने और चोदने का शौक हुआ करता था.

पर बहुत दिनों से कोई नयी दोस्ती नहीं हुई थी और जो लड़का (रोहन) मुझे मिला, उसने लड़की के नाम से आईडी बना रखी थी.

मैंने चैट करते समय उसे बताया कि मैं बहुत अच्छे से शरीर को सहलाता हूँ, फोरप्ले का खिलाड़ी हूँ.
तब वो लड़का जो कि लड़की बनकर बात करता था, उसने बताया कि उसका बहुत सुंदर चिकना बॉयफ्रेंड है. वह उसे बहुत चाहती है पर वह खुलकर सेक्स नहीं कर पाता.

तो मैंने कहा- तुम मेरे साथ कर लो!
इस पर वह बोली- तुम पहले मेरे बॉयफ्रेंड को सिखा दो फॉरप्ले करना!

मैं भी सोच में पड़ गया.
खैर मैंने हां कर दी.

उसने कुछ दिनों बाद उसके रूम का पता दे दिया और मुझे बताया- मैंने अपने बॉयफ्रेंड रोहन को सब कुछ बता दिया है, तुम जाकर मिल लो।

अब इतनी सारी बातें होने के बाद मुझे शक हो रहा था कि यह लड़की ही वो लड़का तो नहीं!
पर फिर भी मैंने मिलने का मन तो बना ही लिया और चल दिया उससे मिलने!

नम्बर अभी तक दिया नहीं था तो फेसबुक पर मैसेज करके उसे कहीं और बुलाया और वह वहाँ आ गया।

पहली बार उसे देखा तो देखता ही रह गया.
रोहन लड़का होकर लड़कियों को फेल कर रहा था।

मैंने उससे बहुत देर तक हाथ मिलाया, बहुत सॉफ्ट फील हुआ.
यकीन मानो … वहीं मेरा लन्ड खड़ा हो गया क्योंकि हम बहुत दिन से सेक्स की ही बातें कर रहे थे।

अब में उत्साह के साथ उसके रूम पर उसके साथ आ गया।
और अंदर आते ही उसे जोर से गले लगाया.
कसम से क्या फीलिंग्स आ रही थी।

उसने भी मुझे जोर से मुझे पकड़ लिया.
मैंने देर न करते हुए उसके नर्म होटों को चूसना चालू कर दिया.
कभी नीचे का होंठ तो कभी ऊपर का … फिर उसकी जीभ को पूरा अपने मुंह में लेकर खूब चूसा.
फिर उसके गालों को जी भर के चाटा. फिर उसके कानों को एक एक करके करीब 15 मिनट तक चाट कर जीभ से सहलाया.

Read New Story..  मर्दानी बीवी का गांडू स्त्रैण पति

वह तो इतने नशे में आ गया जैसे बीयर की बोतल पी ली हो!
अब वह भी अब मेरे होटों को लगातार चूसे जा रहा था क्योंकि शायद उसने इतने चरम सुख की कल्पना ही नहीं की थी.

अब मैंने उसके टीशर्ट के नीचे से अंदर हाथ डालकर उसके चिकने सीने को और पेट को सहलाना शुरू किया.
उसका टुंडी वाला हिस्सा कंपकपा रहा था.

मैं हल्के नाखून से उसके पेट, टुंडी और निप्पल को सहलाता हुआ उसकी निप्पलों को हौले हौले मरोड़ रहा था।

उसकी धड़कन बहुत तेज़ हो गयी.
वह अब बेचैन होने लगा.

तो मैंने थोड़ा रुककर फिर से उसके होटों को चूसा और अपने मुंह में पानी भर भर के उसके होटों से होटों को मिलाकर उसे पिलाया.
और फिर उसे गिलास से पिलाकर उसके मुंह का मैंने पिया.

ऐसा करने से हम दोनों और करीब आ गए और फिर से होटों को चूसना शुरू कर दिया.
और चूसते चूसते मैंने उसकी टीशर्ट उतार दी.

फिर मैंने उसकी जींस की बटन और जिप खोल दी और अपनी भी खोल ली.
मैंने उसे अपने से चिपका लिया, चड्डी से चड्डी चिपक गयी.
हम दोनों एक दूसरे के लन्ड को महसूस कर रहे थे पर फिर भी हम दोनों पूरे जोश में एक दूसरे के होटों से मस्ती कर रहे थे.

तभी मैंने एक हाथ उसके अंडरवियर में डाल कर उसके हिप्स पर फेरना शुरू किया.
मेरा तो लन्ड पूरी ताकत से तन्ना गया.
क्या पौंद थे उसके … लड़की भी शर्मा जाए!

मैं समझ गया कि इसने जरूर अपने पूरे शरीर को चिकना किया है.

अब मैंने बिना देर किए अपने हाथ की 1 उंगली को उसके गांड के छेद पर बाहर से फेरना शुरू किया.

तो उसने ‘फ़क मी, फ़क मी’ की रट लगाना शुरू कर दिया.

मैंने उंगली में लुब्रिकेंट लगाया जो मैं साथ ले गया था और उसकी गांड में उंगली अंदर डाल दी.

वह तो मानो आसमान की सैर कर रहा था.
शायद उसे इस मजे का अंदाजा ही नहीं था.

जबकि सच में मुझे भी इस सुख का अंदाजा नहीं था.
मैं अपने उन पिछले दिनों को याद करके पछता रहा था जब इस तरह के मौके में छोड़ दिया करता था.
इसके पहले भी कई चिकने लड़के फेसबुक के द्वारा सम्पर्क में आये थे जो मुझसे सेक्स की बात भी करते थे.
पर मैं उन पर हंसता था और उनसे कहता था- असली मजा लड़की ही दे सकती है!

तब सच में मैं गलत था.
असलियत मजे की तो अब न्यू गे बॉय सेक्स करके पता पड़ रही थी.

कसम से अभी तक जितनी भी लड़की, भाभी, आंटी चोदी थी, उन सब पर भारी यह लड़का था.

Read New Story..  अंकल ने गांड मारने की कोशिश की

हमारे लन्ड चड्डी के अंदर से ही एक दूसरे को किस कर रहे थे.

तभी मैंने उसे बेड पर लिटाकर उसकी चड्डी के ऊपर से ही उसके लन्ड को अपने होंठों से चूमना शुरू किया.
और जैसा कि मैं सोच रहा था कि इसका लन्ड छोटा सा होगा. पर मैं गलत था.
उसका लगभग मेरे बराबर 7 इंच का लन्ड था.

मैंने देर न करते हुए आंख बंद करके मुंह से उसकी चड्डी नीचे उतार दी.
फिर सीधा उसका लन्ड मुह में ले लिया.

यकीन मानना … ऐसा मैंने जीवन में पहली बार किया … बल्कि ऐसा कभी सोचा भी नहीं था।
और कसम से क्या फीलिंग आ रही थी!

मैं बस उस सुख को महसूस किए जा रहा था और सारी हदें पार करने का पक्का मन बना लिया था.
बस मैं गपागप उसका लन्ड चूस रहा था.

साथ ही मुझे अफसोस हो रहा था उन लड़कियों की सोच पर जिन्हें लन्ड चूसने को मिलता है.
पर वे अनमने मन से उसकी ऊर्जा का रस नहीं ले पाती जो इस वक्त मैं लिए जा रहा था।

रोहन जोर जोर से सिसकारियां ले रहा था और कह रहा था- पानी निकाल दोगे क्या?
मैंने कहा- हाँ … क्योंकि मुझे आज पता नहीं क्या हो गया … आज तो वीर्य भी अंदर लूंगा.

क्योंकि मैं बहुत माल निकाल चुका था अपना … अब वीर्य आज लेने की बारी थी।

और दोस्तो, वो पल धीरे धीरे करीब आ रहा था और मैं भी इस पल को उत्साहपूर्वक जीना चाहता था.

रोहन का लन्ड पूरे जोश में था.
वह अपने दोनों हाथों को पलंग पर फैलाये हुए बेडशीट मसल रहा था और आंखें बंद करके दूसरी दुनिया की उड़ान भर रहा था.

तभी वीर्य की एक जबरदस्त पिचकारी चली जो सीधे मेरे गले तक चली गई.
मैंने और जोर जोर से चूसना शुरू कर दिया.

रोहन तड़प रहा था और सिसकारियों के साथ वीर्य की धार छोड़े जा रहा था.
मैं उसके पेट पर हाथ फेरकर उसे सहला रहा था और वीर्य मुख में लेता जा रहा था.

धीरे धीरे रोहन का लन्ड थोड़ा नर्म होना शुरू हुआ.
अब मैंने आंख खोलकर उसे देखा.

बहुत ही सुंदर लन्ड था क्योंकि वह उसे बहुत सफाई से रखता था.

नर्म पड़ने के बाद भी बहुत देर तक उसे चूसा क्योंकि नर्म और ज्यादा प्यारा लगता।

उस वक्त मुझे अपने एक अंकल की याद आ रही थी.
वे भी मेरे साथ ऐसा करते थे जिनके बारे मैं अगली कहानी में बताऊंगा।

मुझे लग रहा था कि रोहन डिस्चार्ज होने के बाद कुछ अनमना हो जाएगा.
पर फिर उसने मुझे लिटाया और मेरे होटों को पूरी ऊर्जा के साथ चूसना शुरू किया.

मैंने भी आंखें बंद करके उन मस्ती भरे पलों का आनंद लिया.

Read New Story..  गे वीडियो देख जागी मेरे अंदर की लड़की

रोहन ने पूछा- मुह में ही करोगे या कुछ और इरादा है?
मैंने कहा- तुम चूसते रहो!

तब तक मैंने एक नकली लन्ड पर कंडोम चढ़ाया जो मैं साथ ले गया था, उस पर लुब्रिकेशन लगाया और उंगलियों में भी लुब्रिकेंट लगा लिया.
फिर 69 की पोजिशन बना ली हमने!

मैंने उसके लन्ड को चूसने के साथ साथ उसकी गांड के छेद में उंगली घुसना जारी रखा.
रोहन की समझदारी देखो, उसने अपनी गांड को बहुत अच्छे से सजाया हुआ था, एनीमा लेकर अंदर पूरी सफाई की हुई थी और पहले से ही अंदर महकता हुआ लुब्रिकेंट लगाया हुआ था.
कोई लड़की क्या अपनी चूत को सजाएगी इतना!

रोहन ने अपनी गांड … बल्कि कहना चाहिए चूत को सजाया हुआ था.
दोस्तो, मैं खुद को उसे चाटने से नहीं रोक पाया.
और जितनी जा सकती थी जीभ से अंदर तक सहलाया.

जो नकली लन्ड मैं लाया था, वो धीरे धीरे पूरा रोहन की चूत (गांड) में घुसा दिया.

अब रोहन और मैं तीन तीन जगह से मजे ले रहे थे.
ऐसा लड़कियां नहीं कर पाती.

अब मेरा लन्ड भी पूरी तरह तन्ना चुका था. मैं न्यू गे बॉय बनाने जा रहा था.

मैंने उसे उल्टा लिटाया, घोड़ी बनाया और उसकी गांड के छेद में अपने लन्ड को धीरे धीरे अंदर पूरा अंदर कर दिया.
ऐसा लग रहा था किसी कमसिन लड़की की चूत में लन्ड जा रहा हो.

अब मैंने उसके पैर सीधे करते हुए उल्टा लिटा दिया और खुद भी उस पर उल्टा लेट कर धक्के लगाना शुरू किया.

कसम से उसकी फूली हुई गांड, उसकी चिकनी खुशबूदार पीठ, उसका पूरा चिकन बदन मुझे जन्नत की सैर करा रहा था.

मैंने धक्कों की स्पीड बढ़ाते हुए उसके निप्पल को खूब मसला.

तभी वह बोला- आसन चेंज करते हैं!
मैंने लन्ड निकाल कर उसे सीधा लिटाया और पैर ऊपर कर के सीधा अंदर डाल दिया और पैर में पैर फंसा कर फिर चोदना शुरू किया.

उसने पूरा मुझे अपने ऊपर खींच लिया और मेरे निप्पल को कस कस के मरोड़ना शुरू कर दिया.

मैं भी अब बहुत ज्यादा उत्तेजित हो चुका था.
मैंने स्पीड बढ़ाई, उसने गहरी गहरी सिसकारियां ली और और मेरी पिचकारी रोहन की प्यारी प्यारी गांड में समा गई.

हमने अपने पैर सीधे किये और मैं उस पर उल्टा लेट गया. बहुत देर तक एक दूसरे के होंठों को चूसा, लन्ड से लन्ड को मिलाया, निप्पल से निप्पल मिलाई, कस के एक दूसरे को आलिंगन किया।

प्यारे पाठको, कैसी लगी आपको मेरी न्यू गे बॉय सेक्स कहानी?
sonalkomal@gmail.com

Rate this post
error: Content is protected !!