नन्हे लंड वाले लड़के की यौन आनन्द की दास्तान

स्माल डिक सेक्स कहानी में एक लड़के का लंड बहुत छोटा था. उसके कॉलेज में यह बात फ़ैल गयी और सब उसका मजाक बनाने लगे. लड़के को महसूस हुआ कि उसे लड़कियां अच्छी नहीं लगती.

राहुल के कॉलेज में उसके दोस्त सेक्स की बातें करते, किसका लंड कितना बड़ा है … यह एक दूसरे को दिखाते.
पर राहुल उनसे दूर रहता क्योंकि उसका खड़ा लंड 2 इंच का था और चूचे फूले हुए थे. दाढ़ी मूंछ भी ना के बराबर थे.

एक दिन मूतते समय एक लड़के ने उसका छोटा सा लंड देख किया.
स्माल डिक वाली यह बात पूरे कॉलेज में फैल गई तो दोस्त उसका मजाक उड़ाने लगे.

यह स्माल डिक सेक्स कहानी इसी लड़के की है.

उसने यह बात अपने बड़े भाई को बताई जो उससे 8 साल बड़ा था.

बड़ा भाई राहुल को डॉक्टर के पास ले गया.
डॉक्टर राहुल के पिता का घनिष्ठ दोस्त था.

तब डॉक्टर ने बताया यह हार्मोन इम्बैलेंस के कारण कारण हुआ है. दवाई से कुछ फ़ायदा नहीं होगा.

राहुल के पिता का होटल का व्यवसाय था.
उसका बड़ा भाई पिता के साथ काम करता था.

उसने राहुल की समस्या पिता को बताई.
राहुल उदास था.

वह कॉलेज के बाद अपने पिता से बोला कि मैं दूसरे शहर में नौकरी करूँगा.
पिताजी ने दूसरे शहर में एक दोस्त की कंपनी में राहुल की नौकरी लगा दी.

राहुल भाड़े के फ्लैट में अकेला रहता था.
हम उम्र सहकर्मियों से उसे सेक्स वीडियो के बारे में पता चला.

फ्लैट में राहुल लैपटॉप पर सेक्स वीडियो देखने लगा.

स्त्री पुरुष का सम्भोग देखकर उसे अच्छा नहीं लगता; उसको अपने 2 इंच के लंड का ख्याल आता.

एक रात राहुल ने गे सेक्स वीडियो देखा, उसमें एक लड़का दूसरे लड़के की गांड मार रहा था.

वीडियो देखते समय राहुल की गांड में कुलबुलाहट होने लगी.

उसके बाद से राहुल गे वीडियो देखते समय अपने चूचे दबाता और अपनी गांड में मोमबत्ती डालकर अन्दर बाहर करता.
साथ ही वह कल्पना करता कि कोई उसकी गांड मार रहा है.
ऐसा करते समय राहुल पहली बार झड़ गया.

राहुल समझ गया कि उसे कैसे सेक्स में मजा आएगा.
अब उसे अपने लिए मर्द ढूंढना था.

राहुल का बॉस संजय उससे 5 साल बड़ा हैंडसम कुंवारा युवक था.

तो राहुल ने उससे निकटता बढ़ाना शुरू की.
वह गांड मरवाने के बारे में नेट पर पढ़ने लगा.

सुबह फ्रेश होने से पहले गांड में उंगली से तेल डालता, जिससे बवासीर ना हो.
फ्लैट में आस प्लग पहनकर चलता, उसके घर्षण से मजा आता.

इससे उसकी गांड भी थोड़ी ढीली हो गयी.

नेट पर दी गई जानकारी के अनुसार छोटी पिचकारी से वह अपनी गांड में पानी भरकर गांड को साफ़ करता.

राहुल ने अपने जन्म दिन पर अपने बॉस संजय को निमंत्रण दिया.

उस दिन राहुल ने ब्यूटी पार्लर जाकर शरीर के सभी अनचाहे बाल निकलवा दिए.

राहुल सुंदर था.
उसका गेहुंआ रंग और भरा शरीर बड़ा ही छविदार था.

वह घर आते समय सेक्स बढ़ाने की दवाई, स्ट्रांग और माइल्ड बियर, कंडोम, के-वाई जैल आदि ले आया.

जन्म दिन की शाम राहुल ने पतला सफेद शर्ट और काला हाफ पैंट पहना, उसके भरे हुए चूचे टी-शर्ट में से साफ दिख रहे थे.
गांड पिचकारी से पानी भरकर साफ़ की हुई थी.

उसने आज के अपने पहले मर्द संजय की पसन्द का खाना बनाया था.

शाम को संजय फूल और चॉकलेट लेकर आया, उसने राहुल को जन्म दिन की बधाई दी.

केक काटने के बाद राहुल ने माइल्ड बियर का कैन खुद ले लिया और स्ट्रांग बियर वाले कैन में सेक्स की गोली घोलकर संजय को पकड़ा दिया.
बियर पीते समय संजय राहुल के उभरे चूचे और चिकनी जांघ को देख रहा था.

सेक्स की गोली के कारण संजय का लंड खड़ा हो गया.

राहुल- संजय सर, आप शाम को क्या करते हैं … कोई गर्लफ्रेंड है क्या?
संजय- मुझे सर मत कहो यार, घर में हम दोस्त हैं. मेरी एक लड़की से दोस्ती थी, पर बात बढ़ने के पहले उसने एक अमीर से शादी कर ली. शाम को मैं कंप्यूटर में कभी कहानी पढ़ता हूँ, कभी वीडियो देखता हूँ. शाम को तुम क्या करते हो? तुमने सिर्फ मुझे स्ट्रांग बियर का कैन क्यों दिया?

राहुल- आप स्ट्रांग हैं ना … इसलिए स्ट्रांग बियर वाला कैन आपको दिया. मैं शाम को खाना बनाता हूँ. आपसे क्या छुपाना, आपने मुझे दोस्त कहा. मैं सेक्स वीडियो देखता हूँ. आप कहें, तो साथ बैठकर देखें?
सेक्स की गोली और नशे के कारण संजय जोश में था, वह तुरंत राजी हो गया.

राहुल संजय के पास बैठा, उसने एक गे वीडियो लगा दिया और संजय की जांघ पर हाथ रख दिया.
संजय भी राहुल की चिकनी जांघ पर हाथ फेरने लगा और राहुल के उभरे चूचे देखने लगा.

राहुल संजय के खड़े लंड को सहलाते हुए बोला- मैं शाम को मन से औरत बन जाता हूँ. वीडियो देखते समय कल्पना करता हूँ कि कोई मर्द मुझसे सम्भोग कर रहा है. अभी तक मुझे अपनी पसन्द का मर्द नहीं मिला था.
संजय- राहुल लगता है, तुम मुझे अपनी पसन्द का मर्द समझते हो … या ऐसा कहूँ कि समझती हो?

राहुल ने शर्माकर गर्दन झुका ली.

संजय राहुल की शर्ट के अन्दर हाथ डालकर उसके चूचे दबाने लगा.
राहुल सी सी सीत्कारी लेने लगा.

Read New Story..  छिनाल बहन को चार लोगों ने चोदा

संजय ने खड़े होकर राहुल का हाथ पकड़ कर उसे खड़ा किया और उसकी शर्ट उतार दी.

राहुल के चिकने बदन और उभरे चूचे देखकर संजय खुश हो गया.
उसने अपनी शर्ट भी उतार दी और राहुल को आलिंगन में लेकर उसके होंठ चूमने लगा.

वह राहुल के चूचे दबाने, चूसने लगा. राहुल के बदन में ख़ुशी की लहर दौड़ गयी.

संजय ने राहुल को पलंग पर लिटाकर उसकी पैंट उतार दी.
जब उसने राहुल का 2 इंच का खड़ा लंड देखा, वह समझ गया कि राहुल सिर्फ गांड में लंड लेकर ही यौन आनन्द पा सकता है.

संजय ने अपनी पैंट व चड्डी उतारी और राहुल के ऊपर लेटकर उसके होंठ चूसने लगा.

कुछ देर बाद संजय ने राहुल को उल्टा लिटा दिया और उसके चिकने कूल्हे चूमने लगा.
राहुल ने तकिए के नीचे से कंडोम और के-वाई जैल निकाला.

संजय ने कहा- इसकी जरूरत नहीं, तुम भी कुंवारे हो और मैं भी … बीमारी का कोई खतरा नहीं है. बस तुम तेल की शीशी ले आओ.

राहुल बाथरूम से नारियल तेल ले आया.

संजय- मैं मिशनरी आसन में तुम्हारे प्यार वाले छेद का उद्घाटन करूँगा, जिससे हम बात कर सकें. मैंने पढ़ा है कि पहले थोड़ा दर्द होता है, पर बाद में मजा आता है.

राहुल ने पीठ के बल लेटकर अपने पांव छाती की तरफ लेकर पकड़ लिए.
जैसा उसने वीडियो में देखा था.

संजय ने राहुल की कमर के नीचे तकिया लगाया.

राहुल ने संजय का खड़ा 5 इंच का थोड़ा मोटा लंड देखकर सोचा कि ज्यादा दर्द नहीं होगा.
उसने मोमबत्ती और आस प्लग से गांड को ढीला किया हुआ है.

संजय ने अपने लंड पर तेल लगाया.
राहुल ने अपनी गांड ढीली कर दी.

संजय ने अपना लंड राहुल की गांड में डालना शुरू किया.
लंड का टोपा अन्दर जाते ही राहुल दर्द से आ आ करने लगा.

अब राहुल को लंड और मोमबत्ती का फर्क समझ में आया.
संजय रूककर राहुल के होंठ चूमने लगा, उसके निप्पल उंगली से घुमाने लगा.
उत्तेजना से राहुल की गांड फैलने लगी.

कुछ ही बाद राहुल ने मुस्कुराकर कमर हिलायी.

इशारा मिलते ही संजय ने एक झटके में अपना पूरा लंड राहुल की गांड में पेल दिया.
राहुल की आंख में आंसू आ गए, पर चेहरे पर मुस्कान थी.

वह धीरे से संजय के कान में बोला- आज मैं लड़की से औरत बन गया हूँ.
यह सुनकर संजय जोश में आ गया और वह हचक कर राहुल की गांड मारने लगा.

राहुल दर्द और मजे का आनन्द लेने लगा.
कुछ मिनट चुदने के बाद राहुल अपना लंड बिना छुए ही झड़ गया.

उसके नन्हे लंड से कभी इतना वीर्य नहीं निकला था.
गोली के कारण संजय जोश में अभी भी चोद रहा था.

राहुल बोला- मेरी कमर दुःख रही है.

संजय रुक गया और उसने लंड को गांड से निकाल लिया.

फिर संजय ने राहुल को पेट के बल लिटा दिया और खुद राहुल के ऊपर लेटकर उसकी गांड मारने लगा.
जब वह थक जाता, तो थोड़ा आराम करने लगता और वापस चोदने लगता.

राहुल की गांड दुःख रही थी.
वह बोला- अब ख़त्म करो.

आधा घंटा तक हचक कर गांड चोदने के बाद संजय ने राहुल की गांड वीर्य से भर दी.
राहुल को लगा, जैसे गांड में गर्मी के बाद बारिश हुई.

फिर संजय राहुल को सहारा देकर बाथरूम में ले गया.
बाथरूम में राहुल ने कहा- संजय मैंने पढ़ा है कि गांड सम्भोग के बाद लंड को साबुन से धोना चाहिए. गांड में कीटाणु हो सकते हैं.
यह कहकर राहुल ने संजय का लंड प्यार से साबुन से धोया. संजय ने भी राहुल की गांड और उसका स्माल डिक धोया.

चुदाई के बाद दोनों ने कपड़े पहने.
राहुल ने खाना परोसा.
संजय को खाना बहुत पसन्द आया

संजय- राहुल, आज सेक्स के दौरान मुझे बहुत आनन्द आया, तुम्हें कैसा लगा? खाना बहुत अच्छा था, क्या तुम मेरी बीवी बनकर मेरे फ्लैट में रह सकते हो?
राहुल- मुझे भी बहुत आनन्द आया, थोड़ा दर्द भी हुआ. मैं अपने छोटे लंड के कारण उदास था, अब मुझे जीवन का उद्देश्य मिल गया. कहते हैं कि भगवान जब एक राह बंद करता है, दूसरी राह खोल देता है. मैं खुशी से तुम्हारी बीवी बनकर रहूंगी. ऑफिस में काम करती रहूँगी.

दूसरे दिन राहुल अपना सामान लेकर संजय के साथ उसके फ्लैट में रहने चला गया.

ऑफिस में राहुल का बर्ताव अन्य पुरुष कर्मचारियों के समान रहता.
संजय बड़े पद पर था, उसे ऑफिस में देर हो जाती.

राहुल ऑफिस से छुट्टी के बाद संजय के फ्लैट में जाता और मन से स्त्री बन जाता.
वह नाश्ता, खाना बनाता, किसी नवविवाहित स्त्री की तरह संजय का इंतज़ार करता.

राहुल का दोहरा व्यक्तित्व पूरी तरह सामने आ गया था.

संजय ने राहुल की पसन्द के कई तरह के लड़कियों के कपड़े, ब्रा-पैंटी, नकली गहने, मेकअप का सामान ऑनलाइन मंगवा लिया था.
राहुल वह पहनकर घर पर लड़की बन जाता.

संजय घर आते ही राहुल को आलिंगन में लेकर चूमता.
घर का वातावरण रोमांटिक हो जाता था.

चाय नाश्ते और फ्रेश होने के बाद उनकी मस्ती शुरू हो जाती.

एक साथ में टीवी पर रोमांटिक फिल्म देखते समय संजय कभी राहुल को चूम लेता, कभी राहुल के चूचे दबा देता.

उन दोनों में रात को जबरदस्त सम्भोग होता. सेक्स वीडियो और कल्पना से उन्होंने कई आसन सीखे. चूमा-चाटी, चूचे दबाने, चूसने के बाद पहला राउंड होता. कभी मिशनरी, कभी डॉगी स्टाइल में गांड चुदाई का मजा लिया जाता.
कभी राहुल संजय को लिटाकर उसके लंड की सवारी करता, कभी वह पलंग के पास खड़ा होकर झुक जाता.

Read New Story..  Drishyam, ek chudai ki kahani-1

संजय राहुल की गांड मारता और कूल्हे पर चांटे मारता.
कभी राहुल पेट के बल लेट जाता, अपने कूल्हे हाथ आदि फैला देता.

संजय उसके ऊपर लेटकर उसकी गांड मारता और वे दोनों अनेक अन्य आसनों में मजे करते.
किचन व अन्य कमरों में भी गुदा मैथुन का खेल होता.

संजय को लंड चुसवाने में मजा आता, सभोग से पहले राहुल संजय का लंड चूसता.

पहली बार जब राहुल ने लंड गले तक लिया तो उसकी सांस रुक रही थी.
पर बाद में वह पूरा लंड गले तक लेना सीख गया.

जिस शाम संजय ऑफिस से बहुत देर से थककर आता, उस रात सम्भोग नहीं होता.

संजय के कहने पर राहुल उसका लंड चूसता और वीर्य पी जाता.

छुट्टी के दिन दोनों एक दूसरे की मालिश करते और साथ नहाते.

राहुल संजय का लंड चूसने के बाद, वाश बेसिन पकड़कर झुक जाता और संजय उसकी गांड मारता.

जब मौसम ज्यादा ठंडा नहीं होता तब राहुल छोटा स्कर्ट ब्लाउज पहनता, बिना पैंटी ब्रा के और संजय मौका मिलते ही उसके जांघ कूल्हे पर हाथ फेरने लगता. मूड बनते ही संजय राहुल का स्कर्ट उठाकर उसे चोद देता.
राहुल का बदन भर गया था. उसके चूचे और बड़े हो गए थे.

एक शाम संजय ने राहुल को बताया कि गांव में उनके घर बकरी थी. उसे बकरी का दूध निकालने में मजा आता था.

राहुल के दिमाग में एक आईडिया आया.

उसने ऑनलाइन पूँछ लगा आस प्लग मंगवाया.
गले का सुनहरा बेल्ट, सुनहरी चेन, बकरी का मुखौटा खरीदा.

छुट्टी के दिन जब संजय बाजार जा रहा था, तब राहुल ने उसे कहा- वापस आने के 15 मिनट पहले फ़ोन करना और दरवाज़ा चाबी से खोलकर बेडरूम में आना, सरप्राइज दूंगी.

कुछ देर बाद संजय का फ़ोन आया- मैं आ रहा हूँ.

राहुल की स्त्री जाग उठी.
उसने नंगी होकर पीछे पूँछ लगा ली और गांड में आस प्लग लगा लिया.
आगे से मुँह पर बकरी का मुखौटा, गले में पट्टा व चेन आदि लगा लिया.

दूध दुहने के लिए लोटा पलंग पर रखा, चेन को पलंग के पाए में बांध दिया और बकरी के समान पलंग पर खड़ी हो गयी.

पलंग के फ्रेम में कागज चिपका कर उस पर लिखा- बकरी दूध दुहवाने का इन्तजार कर रही है.
उसके मोटे चूचे झूल रहे थे.

संजय बेडरूम में आकर राहुल का बकरी रूप देखकर खुश हो गया. उसने राहुल के चूचे सहलाए … फिर दोनों निप्पलों को उंगली से पकड़कर दूध निकालने लगा.
इस खेल में दोनों को आनन्द आ रहा था.

उत्तेजित होने पर दोनों में धुंआधार चुदाई हुई.
इस तरह से वे दोनों अक्सर यह खेल खेलने लगे थे.

संजय के कॉलेज के ज़माने के दो दोस्त सुनील, अनिल कभी कभी संजय के घर आते थे.

जब वे आते थे, उस शाम शराब की पार्टी होती.
उस शाम राहुल लड़कों के कपड़े पहनता, अच्छा खाना बनाता.

उनके साथ राहुल ने भी शराब पीना सीख लिया था.

एक शाम जब अनिल, सुनील संजय के घर आए. तब उन्होंने बाथरूम में लड़कियों के कपड़े देख लिए.
ये कपड़े राहुल जल्दी जल्दी में बाथरूम में टंगे छोड़ गया था.

जब दोस्तों ने संजय को लड़कियों के कपड़े के बारे में पूछा, संजय ने नशे में सब बता दिया कि कपड़े राहुल के हैं और वे दोनों पति पत्नी की तरह रहते हैं.
तब से सुनील, अनिल राहुल को भाभी कहकर पुकारने लगे.

राहुल के लिए अच्छा ही हुआ.
वह पार्टी के दौरान लड़की बनकर शामिल होने लगा.

वैसे भी शाम को राहुल को लड़कों के कपड़े पहनना अच्छा नहीं लगता था.

ऐसे ही ख़ुशी ख़ुशी एक साल बीत गया.

एक शाम संजय उदास होकर घर आया, उसने राहुल को बताया कि कंपनी के काम से उसे एक साल के लिए विदेश जाना है.

राहुल उस समय स्त्री वेश में था, उसने कहा- मैं भी साथ चलूंगी.
संजय- मज़बूरी है, कानूनन पुरुष बीवी की मान्यता नहीं है, वीसा नहीं मिलेगा.

संजय ने अनिल सुनील को घर बुलाकर कहा- मैं एक साल के लिए विदेश जा रहा हूँ, तुम दोनों अपनी भाभी का ख्याल रहना.
संजय उन्हें अपनी बीवी सौंप कर चला गया.

अनिल और सुनील छुट्टी के पहले दिन शाम को राहुल के घर आते, पहले की तरह पार्टी करते और राहुल को खुश रखने की कोशिश करते.
बाकी शाम राहुल उदास रहता.

उसकी रोज व्हाट्सअप वीडियो पर संजय से बात होती.
राहुल अपनी गांड की खुजली फिर से मोमबती से बुझाने लगा, पर उसमें लंड के समान मजा नहीं था.

संजय का प्यार भरा व्यवहार उसे बहुत याद आता.

राहुल संजय के फ्लैट में रह रहा था.
चार महीने बीत गए.

संजय का फ़ोन आना भी कम हो गया था.
उसने कहा था कि वह बहुत व्यस्त है.

एक दिन सुनील अनिल राहुल से मिलने आए.
वे दोनों थोड़े चिंतित देख रहे थे.

सुनील- राहुल मेरी संजय से कल बात हुई, वह विदेश में बस जाने की सोच रहा है.
राहुल की आंख में आंसू आ गए.

तब राहुल ने संजय को वीडियो कॉल लगाया, उस समय विदेश में रात के दस बजे थे.
संजय बिस्तर पर लेटा था.
उसके बाजू में एक लड़की ब्रा पैंटी में लेटी थी.

Read New Story..  Biwi and bahen - Hindi sex kahani

यह देखते ही राहुल ने फ़ोन काट दिया, सुनील अनिल ने भी वह देखा.

राहुल रोने लगा.
सुनील ने उसे गले लगाकर कहा- भाभी, हम आपके साथ हैं.

अनिल राहुल की पीठ पर हाथ फेरकर सांत्वना देने लगा.

अनिल बोला- भाभी, हम दोनों आज रात यहीं रुक जाते हैं.
राहुल- नहीं, मैं अकेली रहना चाहती हूँ.

वे दोनों चले गए.
राहुल रोते रोते सो गया.

दूसरे दिन राहुल ऑफिस नहीं गया.

उसने सोचकर निर्णय लिया कि संजय की तरह वह भी बेवफाई करेगा.

राहुल को याद आया कि जब सुनील उसे गले लगा रहा था, उसने उसे कसकर आलिंगन में लिया था और सुनील का लंड खड़ा हो गया था.

अगले दिन ऑफिस की छुट्टी थी.

राहुल ने सुनील को फ़ोन किया- आज शाम तुम और अनिल आना, पार्टी करेंगे.

उस दिन राहुल ने अच्छा खाना बनाया.
वह बाजार से कंडोम और के-वाई जैल ले आया.

सुनील, अनिल व्हिस्की की बोतल लेकर आए.

राहुल छोटा स्कर्ट, बिन बांह का ब्लाउज पहनकर, मेकअप गहने में तैयार थी.

पहले पैग के बाद सुनील अनिल राहुल की मांसल चिकनी जांघ, चिकनी बांहें, कांख को बार बार देख रहे थे.

राहुल- मैंने सोचा है कि मैं भी संजय की तरह बेवफाई करूंगी. क्या तुम दोनों मेरे साथ हो?
वे दोनों तुरंत राजी हो गए.

राहुल उनको बेडरूम में ले गया.

बेडरूम में जाते ही सुनील अनिल राहुल को चूमने लगे, उसका ब्लाउज ब्रा उतार दिया.
राहुल के मोटे चूचे देखकर सुनील ने बाएं चूचे पर और अनिल ने दाहिने चूचे पर हमला बोल दिया.

वे चूचे दबाने चूसने लगे.

राहुल को बहुत मजा आ रहा था.
तीनों ने कपड़े उतार दिए.

सुनील अनिल राहुल के पूरे बदन को चूम और सहला रहे थे.
उनके लंड खड़े हो गए.
उन्होंने राहुल को अपना लंड चूसने का इशारा किया.

राहुल ने सुनील अनिल के लंड पर कंडोम चढ़ाया और बारी बारी उनके लंड चूसने लगा.
उसके बाद अनिल ने राहुल को पलंग के किनारे घोड़ी बनाकर खड़ा किया.

अनिल सुनील ने कंडोम पर के-वाई जैल लगाया और राहुल की गांड मारी.

चार महीने के बाद राहुल को गांड मरवाने का सुख मिल रहा था.
वह आनन्द से सिसकारी ले रहा था.

अगले दिन राहुल सुनील अनिल के साथ उनके फ्लैट में रहने चला गया.
उसके बाद सुनील अनिल अक्सर राहुल की गांड मारने का आनन्द लेते.

राहुल अपना दुःख भूलकर ऑफिस जाने लगा.

सुनील अनिल ने राहुल को बी डी एस एम का वीडियो दिखाया, जिसमें गांड मरवाने वाले को गुलाम बनाकर बांधा पीटा जाता है.
उन्होंने राहुल को ऐसा खेल समझकर खेलने के लिए राजी कर लिया.

दोनों नंगे सोफे पर बैठ जाते, राहुल को नंगी होकर झुककर सोफे पर हाथ रखकर लंड चूसने को कहते.
राहुल के कूल्हों पर हलके से बेल्ट से मारकर कहते कि गुलाम गले तक लेकर चूस.

राहुल जब सुनील का लंड चूसता, अनिल राहुल के कूल्हों पर बेल्ट मारकर पैर फ़ैलाने को कहता और गांड मारता.
फिर सुनील गांड मारता.

वीडियो देखकर दोनों अलग अलग आसनों में कंडोम लगाकर राहुल की गांड मारते.

एक रात अनिल पलंग पर लेटा, उसका कमर तक शरीर पलंग पर था और पांव जमीन पर.
अनिल ने राहुल को उसकी तरफ पीठ करके लंड गांड में लेकर उछलने को कहा.

राहुल ख़ुशी से लंड लंड गांड में लेकर उछल रहा था.
अनिल ने राहुल को पकड़कर अपने ऊपर लिटा दिया.
सुनील अपना खड़ा लंड लहराते हुए आया.

उसने राहुल को कहा- अपने पैर ऊपर कर, आज तेरी गांड में दो लंड एक साथ डालेंगे.
राहुल ने मना किया, मगर सुनील राहुल को बेल्ट से पीटने लगा.

मजबूर होकर राहुल ने अपने पांव उठा दिए.

उसी समय सुनील ने अपना लंड राहुल की गांड में पेल दिया.

दो लंड एक साथ जाने के दर्द से राहुल रो चिल्ला और तड़फ रहा था पर सुनील झड़ने तक राहुल की गांड मारता रहा.
अनिल भी लेटे लेटे उछलकर राहुल की गांड मार रहा था.

पड़ोस के फ्लैट में राहुल की कंपनी का सहकर्मी रहता था.
उसने खिड़की से राहुल की पिटाई व चुदाई देखी.
पहले भी उसने राहुल को लड़कियों के कपड़ों में देखा था.

पड़ोसी ने कंपनी के मालिक को सब बता दिया.

मालिक ने सुनील अनिल को बुला कर उनसे जब पूछा.
उन्होंने बताया कि राहुल संजय के साथ उसकी बीवी बनकर एक साल रहा. अब उनके साथ रह रहा है. सब राहुल की सहमति से होता है.

मालिक राहुल के पिताजी का दोस्त था.
उसने राहुल के पिताजी को फ़ोन पर सब बताया.
पिताजी ने सब बातें राहुल के बड़े भाई को बताईं.

राहुल को उसके पिताजी ने ‘घर में कुछ प्रोग्राम है’, कहकर अपने शहर बुला लिया.

उसके बाद क्या हुआ, उसे अगली कहानी में जरूर पढ़ें.
आपको स्माल डिक सेक्स कहानी कैसी लगी, कमेंट्स से और मेल से बताएं.
अपने विचार बताते समय सेक्स कहानी का नाम जरूर लिखें.
valmiks482@gmail.com

Rate this post
error: Content is protected !!